cryptocurrency क्या है? | कैसे काम करता है? | legal or illegal in india

आप चाहे television या अपना smartphone खोलें लेकिन हर जगह आपको “बिटकॉइन लिया क्या?” या “क्रिप्टोकरंसी में इन्वेस्ट करें” आपको ऐसा विज्ञापन देखने को जरूर मिला होगा और आपके दिमाग में यह सवाल आया होगा कि आखिर यह क्रिप्टोकरेंसी या बिटकॉइन होता क्या है!

तो आज मैं आपको बताऊंगा कि आखिर क्रिप्टो करेंसी और बिटकॉइन है क्या?

cryptocurrency क्या है?

cryptocurrency जिसे हम digital currency या virtual currency भी बोलते है बस भुगतान का रूप हैं जिसे आप बस online payment के लिए use कर सकते है! क्युकी cryptocurrency का कोई physical रूप नहीं होता! जिसका मतलब आप debited card, credit card, indian rupess की तरह इसे अपने wallet में लेकर नही घूम सकते!

crytocurrency computer programming या coding करके बना है! और यह पूरी तरह से decentralized है जिसका मतलब इसपे ना ही किसी एक person, government, organization का अधिकार या control है!

cryptocurrency कितने प्रकार के है?

CoinMarketCap.com के अनुसार, 10,000 से अधिक cryptocurrency market में है! कुछ cryptocurrency जो market में ट्रेंडिंग के लिए popular हैं वह यह है–

  • Bitcoin
  • Ethereum
  • Cardano
  • XRP
  • Dogecoin
  • Tether
  • Litecoin
  • Binance Coin
  • TRON
  • Bitcoin Cash

cryptocurrency कैसे काम करता है?

cryptocurrency ब्लॉकचेन नामक तकनीक का उपयोग करके काम करती है। blockchain एक विकेन्द्रीकृत तकनीक है जो कई कंप्यूटरों में फैली हुई है जो लेनदेन का प्रबंधन और रिकॉर्ड करती है। यहीं कारण है की crytocurrency इतना Safe है!

blockchain क्या है?

ब्लॉकचेन लेनदेन का एक तकनीक है जो जानकारी को रिकॉर्ड करके बहुत सारे कंप्यूटर मे store करके करता हैं! क्युकी blockchain बोहोत सारे computer में transactions recode को store करके रखता है तो cryptocurrency को हैक करना impossible हों जाता है! और goverment या कोई organisation के लिए transaction track करना भी impossible हो जाता है!

cryptocurrency कैसे खरीदें?

क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के लिए, आपको एक “वॉलेट” की आवश्यकता होगी, एक online app जो आपकी currency को store कर सकता है। cryptocurrency आपको अपने real money (indian rupees) से buy कर सकते हैं और tradeing कर सकते हैं!

अगर आपको cryptocurrency ख़रीदना है तो हमरा यह post पढ़े! भारत में क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग के लिए 7 सबसे अच्छे ऐप?

cryptocurrency कहाँ store करते है?

जिस तरह हम cash या card को फिजिकल वॉलेट में रखते हैं, उसी तरह बिटकॉइन को वॉलेट में भी store किया जाता है- एक digital wallet डिजिटल वॉलेट हार्डवेयर-आधारित या वेब-आधारित हो सकता है। वॉलेट मोबाइल डिवाइस पर, कंप्यूटर डेस्कटॉप पर भी रह सकता है, या कागज पर access के लिए उपयोग की जाने वाली निजी key और पतों को प्रिंट करके सुरक्षित रखा जा सकता है।

क्या भारत में क्रिप्टोकरेंसी legal हैं?

जी हां बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी भारत में legal हैं, लेकिन कोई rules और regulation नहीं हैं। हालाकि सरकार “क्रिप्टोकरेंसी एंड रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021” लाने की भी योजना बना रही है!

cryptocurrency कैसे बनती है?

क्रिप्टोक्यूरेंसी code द्वारा बनाई गई है। लेकिन नए coin mining process के द्वारा genrate होते हैं! bitcoin और Ethereum जैसे mining का उपयोग करते हैं, पर ज़रूरी नहीं की हर cryptocurrency नए coins generate करने के लिए mining का उपयोग करती है, और cryptocurrency कुछ अन्य तरीकों से बनाए जा सकते हैं।

crytocurrency mining क्या होता है?

bitcoin को transaction करने के लिऐ कंप्यूटर की mathematical power की जरूरत होती हैं इस process को हम mining बोलते है! और जो लोग bitcoin mine करते है उन्हें Miners
बोलते हैं! mathematical process करने के लिए Miners graphic card का इस्तेमाल करती है!

और Miners mining फ्री में नहीं करते हर ट्रांजैक्शन पर उन्हें कुछ बिटकॉइन transaction fee के तौर पर मिलते हैं!

क्या हर कोई mining कर सकता है?

हर कोई mining नहीं कर सकता क्युकी mining करने के लिऐ powerfull computer की जरूरत होती है! जितना powerfull कंप्यूटर होगा उतना ही fast transaction होगा!

अगर आप normal computer से mine करने की सोच रहे हों तो यह possible नही हैं!

crytocurrency के फायदे और नुकसान

CryptoCurrency के क्या फायदे हैं?

  • सुरक्षित और निजी

cryptocurrency एक safe और secure currency हैं! जिसे इतना secure बनाती है इसकी blockchain तकनीक जो इसे hack करना impossible बनाती है! और आपकी privacy को भी secure रखती हैं!

  • self-governed (स्व शासित)

cryptocurrency लेनदेन developers / miners द्वारा उनके hardware पर store किए जाते हैं, और उन्हें ऐसा करने के लिए एक reward के रूप में transactions fee मिलता है। चूंकि miners को इसके लिए भुगतान किया जा रहा है, वे लेन-देन के recode को update रखते हैं!

  • crypto exchange आसान से किया जा सकता है!

cryptocurrency को अमेरिकी डॉलर, यूरोपीय यूरो, ब्रिटिश पाउंड, भारतीय रुपया या जापानी येन जैसी कई currency का उपयोग करके खरीदा जा सकता है। different crypto wallet और exchange की सहायता से आप crypto में invest आसानी से कर सकते है!

  • Decentralized (विकेन्द्रीकृत)

क्रिप्टोक्यूरेंसी का एक प्रमुख समर्थक यह है कि वे मुख्य रूप से Decentralized हैं। (decentralized का मतलब कोई goverment, person और organisation पर इसका कोई नियंत्रण नहीं है) Decentralized currency के एकाधिकार को मुक्त और नियंत्रण में रखने में मदद करता है ताकि कोई भी organization crypto के प्रवाह और value का निर्धारित न कर सके! और crypto- currency stable और secure रहे!

Cryptocurrency के क्या नुकसान हैं?

  • अवैध लेनदेन के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है!

क्योंकि cryptocurrency का transactions बहुत secure और private है तो किसी भी transactions को track करना मुश्किल हो जाता है जिसके कारण लोग dark web मे illegal चीजें खरीद सकते हैं!

  • पर्यावरण पर mining के बुरा प्रभाव

mining क्रिप्टोकरेंसी के लिए बहुत अधिक कम्प्यूटेशनल शक्ति और बिजली इनपुट की आवश्यकता होती है, जिससे यह अत्यधिक ऊर्जा-गहन हो जाता है। इसमें सबसे बड़ा अपराधी बिटकॉइन है। mining बिटकॉइन के लिए उन्नत कंप्यूटर और बहुत सारी ऊर्जा की आवश्यकता होती है। यह साधारण कंप्यूटरों पर नहीं किया जा सकता है। प्रमुख बिटकॉइन mining चीन जैसे देशों में हैं जो बिजली उत्पादन के लिए कोयले का उपयोग करते हैं। इससे चीन के कार्बन फुटप्रिंट में जबरदस्त वृद्धि हुई है।

  • कोई धनवापसी या रद्दीकरण policy नहीं हैं!

अगर आपने गलती से किसी wrong wallet address पर अपना bitcoin भेज दिया तो आपका bitcoin वापस नहीं हो सकता!

  • Data losses

अगर गलती से भी आप अपने wallet का private key भूल जाते हो तो wallet में जो भी क्रिप्टो करेंसी होगा वह आपको कभी वापस नहीं मिलेगा! इसे आपको बहुत loss हो सकता है!

cryptocurrency की कीमत किन चीजों पर निर्धारित करती है?

crypto currency या bitcoin की कीमत या price कोन decide करता होगा यह सवाल अपके मन में आया होगा! लेकिन crypto या bitcoin की price बोहोत चीजों से निर्धारित होता हैं! आए जानते है!

जैसा कि आप जानते हैं कि bitcoin केंद्रीय बैंक द्वारा जारी नहीं किया जाता है या सरकार द्वारा समर्थित नहीं है; इसलिए, मौद्रिक नीति (monetary policy), मुद्रास्फीति दर (inflation rates),और आर्थिक विकास(economic growth) का प्रभाव सिर्फ़ इंडियन रूपीस होता है! bitcoin पर इसका कोई effect नही होता!

बिटकॉइन की कीमतें निम्नलिखित कारकों से प्रभावित होती हैं:

  • बिटकॉइन की आपूर्ति (supply) और इसके लिए बाजार की मांग
  • mining प्रक्रिया के माध्यम से बिटकॉइन बनाने की लागत(cost)
  • ब्लॉकचैन में लेनदेन की पुष्टि करने के लिए बिटकॉइन miners को जारी किए गए पुरस्कार
  • प्रतिस्पर्धी क्रिप्टोकरेंसी की संख्या
  • जिन एक्सचेंजों पर यह ट्रेड करता है!
  • इसकी बिक्री को नियंत्रित करने वाले वीनियम (regulation)

Leave a Reply

Your email address will not be published.