सहवाग की दिखती थी झलक और अब 17 महीने से है टीम इंडिया से बाहर, टेस्ट खेलते-खेलते ही खत्म होगा करियर?

भारत ने दुनिया को बहुत से ऐसे क्रिकेटर दिए जिन्होंने इस खेल में बड़े  मुकाम हासिल किए और कर भी रहे हैं. ऐसा ही एक ओपनर रहा जिसने हर गेंदबाज की  जमकर क्लास लगाई. वह जब ओपनिंंग के लिए मैदान पर उतरते तो क्रिकेट प्रेमी  और उनके फैंस तूफानी बल्लेबाजी देखने को बेताब रहते. नाम तो आपने सुना ही  होगा- वीरेंद्र सहवाग.

दिल्ली के नजफगढ़ इलाके से ताल्लुक रखने वाले सहवाग ने क्रिकेट की दुनिया  में कई कीर्तिमान हासिल किए. एक और युवा बल्लेबाज भारत के लिए खेला जिसकी  बल्लेबाजी में सहवाग की झलक दिखती है लेकिन वह पिछले 17 महीने से टीम से  बाहर चल रहा है.

घरेलू क्रिकेट में मुंबई का प्रतिनिधित्व करने वाले पृथ्वी शॉ ने भारत के  लिए 12 मैच खेले हैं. हालांकि इसमें वनडे की संख्या 6 है जबकि 5 टेस्ट और 1  ही टी20 इंटरनेशनल मैच है.

शॉ लगातार खुद को घरेलू क्रिकेट में साबित कर रहे हैं लेकिन भारतीय टीम में  उनकी जगह नहीं बन पा रही है. वह टी20 वर्ल्ड कप के लिए भी टीम के साथ नहीं  थे. शॉ ने अपना पिछला इंटरनेशनल मैच टी20 के तौर पर श्रीलंका के खिलाफ  जुलाई 2021 में खेला था. वह हाल में विजय हजारे ट्रॉफी वनडे टूर्नामेंट में  मुंबई के लिए खेलते नजर आए.

भारतीय टीम में कई युवाओं को मौके मिल रहे हैं लेकिन पृथ्वी अपनी बारी का  इंतजार कर रहे हैं. अगर उनके अंदाज की बात की जाए तो वह तेज शुरुआत करने की  काबिलियत रखते हैं.

उन्होंने मिजोरम के खिलाफ अपने पिछले वनडे मैच में 138  के स्ट्राइक रेट से रन बनाए. पृथ्वी ने 39 गेंदों पर 8 चौके और 2 छक्के  लगाते हुए 54 रन ठोके. वह ओपनिंग की जिम्मेदारी निभाते हैं और ऐसे में एक  तेज शुरुआत वह टीम को दिला सकते हैं.

पृथ्वी ने अभी तक अपने करियर में एक ही टी20 इंटरनेशनल मैच खेला है. दाएं  हाथ के इस बल्लेबाज ने 5 टेस्ट, 6 वनडे भी खेले हैं. उन्होंने टेस्ट में एक  शतक और 2 अर्धशतक लगाते हुए 339 रन बनाए हैं. वहीं, वनडे में उन्होंने  31.5 के औसत से 189 रन बनाए.

टी20 मैच में वह श्रीलंका के खिलाफ खाता नहीं खोल पाए थे. वह टी20 के ओवरऑल  करियर में 92 मैचों में 2401 रन बना चुके हैं जिसमें एक शतक और 18 अर्धशतक  शामिल हैं.